रेलवे यूनियनों ने दी हड़ताल की धमकी, नई पेंशन योजना और 7वें वेतन आयोग की सिफारिश से नहीं हैं खुश

नई दिल्ली। रेलवे की विभिन्न कर्मचारी यूनियनों ने 11 जुलाई से देशभर में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है। कर्मचारियों की मांगों में नई पेंशन योजना और सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों की समीक्षा शामिल है। ऑल इंडिया रेलवेमैन फेडरेशन (एआईआरएफ) के महासचिव एस. गोपाल मिश्रा ने कहा, हम कल रेलवे को यह सूचना देंगे कि हमारी अनिश्चितकालीन हड़ताल 11 जुलाई को सुबह छह बजे से शुरू होगी।

यात्रियों को करना पड़ेगा परेशानियों का सामना 

मिश्रा ने दावा किया कि सरकार के रवैये के कारण यह हड़ताल अपरिहार्य है। उन्होंने छह महीने पहले अपनी मांगें सरकार के सामने रखी थीं जिन पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है यद्यपि उन्होंने अपनी हड़ताल को अप्रैल में टाल भी दिया था। रेलवे के देशभर में करीब 13 लाख कर्मचारी हैं और कोई भी हड़ताल देशभर में रेलगाड़ियों के परिचालन को प्रभावित करेगी एवं इससे यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

तस्वीरों में देखिए सेमी-लग्जरी ट्रेन को

सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू करने की मांग

रेलवे के कर्मचारी संगठन सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों, नई पेंशन योजना की समीक्षा के साथ रिक्त पदों पर नियुक्तियों की मांग कर रहे हैं। मिश्रा ने कहा की सरकार हमारी मांगों पर गंभीरता से विचार नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि हड़ताल करने के अलावा हमारे पास कोई और विकल्प नहीं बचा है। एआईआरएफ इससे पहले भी हड़ताल की धमकी दे चुका है। Indiatv Paisa

0 comments

Post a Comment

Latest Posts

Get More